बदलती दुनिया में महानायक

I’m not questioning your powers of observation; I’m merely remarking upon the paradox of asking a masked man who he is.

फिल्म ‘वी फॉर वेंडेटा’ से

जेम्स बांड की फिल्म ‘स्काईफाल’ में एक दिलचस्प दृश्य है। बांड पहली बार अपने नए क्वार्टरमास्टर यानी क्यू से मिलता है। रिसर्च और डेवलपमेंट डिवीजन का पिछला हेड बुजुर्ग होकर रिटायर हो चुका है। उसकी जगह एक गीक से दिखने वाले युवा ने ले ली है। उसके और बांड के बीच बड़े अहम संवाद हैं। दोनों ही सागर की ऊंची लहरों के बीच पालों वाले एक पुराने शानदार जहाज को एक पेंटिंग में देखते हैं। दोनों के पास उस तस्वीर की अलग व्याख्या है। क्यू कहता है, “अनुभवी होना कुशल होने की गारंटी नहीं है।” तो बांड का जवाब आता है, “हां, जैसे युवा होना मौलिकता की गारंटी नहीं है।”

बांड की नई फिल्म ‘स्काईफाल’ इन्हीं दो विचारधाराओं के बीच एक बहस है। फिल्म इस बात पर काफी जोर देती है कि तेजी से बदलती दुनिया में पुराने मूल्यों पर यकीन बनाए रखना होगा। तभी सीक्रेट सर्विस की हेड एम खुद पर लगे आरोपों के जवाब में टेनीसन की कविता ‘यूलीसिस’ की कुछ पंक्तियां पढ़ती है, जिसमें पुराने ब्रिटिश दौर का नास्टेल्जिया झलकता है। उस वक्त जब पृष्ठभूमि में फिल्म का खलनायक सीधा प्रहार करने जा रहा होता है, एम उस कविता की आखिरी पंक्तियां बोल रही होती है-

वी ऑर नाट नाऊ दैट स्ट्रेंथ व्हिच इन ओल्ड डेज़
मूव्ड अर्थ एंड हैवेन, दैट व्हिच वी आर, वी आर–
वन इक्वेल टेंपर आफ हेरोइक हार्ट्स
मेड वीक बाइ टाइम एंड फेट, बट स्ट्रांड इन विल
टु स्ट्राइक, टु सीक, टु फाइंड, एंड नाट टु यील्ड

मगर जेम्स बांड हो या ‘द डार्क नाइट राइजेज’ का बैटमैन, वे बदलते वक्त की चुनौतियों के सामने थक रहे हैं। कई साल पहले नाइन-इलेवन के हादसे के बाद मार्वल कॉमिक्स के एक स्पेशल इश्यू में स्पाइडरमैन ध्वस्त ट्विन टावर के मलबे के सामने असहाय खड़ा नजर आता है। अमेरिकी पॉपुलर कल्चर के इतिहास में ऐसा बहुत कम हुआ होगा कि उनके महानायक बेन, जोकर या लक्स लूथर जैसे अपने चिर-परिचित काल्पनिक खलनायकों से लड़ने की बजाय वास्तविक दुनिया की किसी चुनौती के सामने खड़े हों। वह महज एक शुरुआत थी। महानायकों के गुरूर तोड़ने के लिए सिर्फ आतंकी हमले काफी नहीं थे, बल्कि आर्थिक मंदी की मार और पश्चिमी दुनिया के बरक्स नई महाशक्तियों के उदय ने इन्हें और बौना बना दिया।

सुपरहीरो कमजोर पड़ रहे थे।

सन् 2008 के झटकों के बाद 2011 से विश्व में फिर से आर्थिक मंदी सिर उठाने लगी। अब तो यह बाकायदा माना जा रहा है कि अगर यूरोप में आर्थिक विकास की गति रफ्तार नहीं पकड़ती है तो एक नया संकट फिर से पश्चिमी दुनिया को अपनी चपेट में ले लेगा। ‘द डार्क नाइट राइजेज’ में पश्चिमी अर्थव्यवस्था का यह संकट साफ तौर पर नजर आता है। बैटमैन की गुप्त पहचान वाले ब्रुस वेन को इसी सिरीज की पहले आई फिल्मों की तरह प्रभावशाली बिजनेसमैन नहीं दिखाया गया है। उसका कारोबार डांवाडोल है। इतना ही नहीं जब खलनायक बेन गोथम सिटी स्टॉक एक्सचेंज पर कब्जा जमा लेता है तो बैटमैन के हाथ से बची-खुची संपत्ति भी चली जाती है और वेन एंटरप्राइजेज का शेयर गिर जाता है। यह ऐसे कारोबारी की कहानी है जो अपने बुरे दौर से गुजर रहा है।
पश्चिम में बढ़ती बेरोजगारी ने युवाओं में निराशा भर दी है। ब्रिटिश यूनिवर्सिटियों से पढ़ने वाले 51 फीसदी छात्र एशिया जा रहे हैं, जो वहां नहीं जा रहे वे ऑस्ट्रेलिया का रुख कर रहे हैं। यही वजह है कि इस साल हमें ‘द अमेजिंग स्पाइडरमैन’ में सुपरहीरो का एक नया अवतार दिखा। मुखौटे के पीछे यह नायक ज्यादा मानवीय है। आम युवा की तरह वह थोड़ा उतावलापन दिखाता है और गलतियां भी करता है। यह स्पाइडरमैन का जेन-नेक्स्ट अवतार है। हॉलीवुड की भाषा में इसे ‘री-बूट’ कहा जाने लगा है और क्रिस्टोफर नोलन इसके उस्ताद बन गए हैं,  जिन्होंने पहले बैटमैन को अपनी तीन फिल्मों की श्रृंखला में री-बूट किया और अब ‘मैन आफ स्टील’ में सुपरमैन के कैरेक्टर को नई जेनरेशन के लिए री-बूट कर रहे हैं। जिन्होंने इस फिल्म का प्रोमो देखा है, उन्हें यह सुपरमैन श्रृंखला की पिछली फिल्मों से अलग, गहरे इमोशंस से भरा और एक त्रासद आधारभूमि लिए आता है। यहां सुपरमैन अपने अस्तित्व और ‘एलिएनेशन’ के सवालों से जूझ रहा है।

लेकिन असल पेचीदगियां उन मूल्यों की हैं, जिन्हें आधार बनाकर इन नायकों ने खुद को गढ़ा था। जब क्यू कहता है, “मैं अपने पाजामे में लैपटॉप के सामने बैठकर चाय की चुस्की लगाते हुए दुश्मन के लिए इतनी तबाही मचा सकता हूं, जितनी तबाही फैलाने में आपको एक बरस लग जाएंगे।” तो यह वाकई बांड के लिए एक बड़ी चुनौती बनकर सामने आता है। नई टेक्नोलॉजी, नया मीडिया और नई विश्व व्यवस्था- इन सबके बीच महानायकों के लिए कहां जगह है?

एलन मूर के ग्राफिक नावेल ‘वाचमेन’ की तरह ये सुपरहीरो मानो अपने रिटायरमेंट की तरफ बढ़ रहे हैं।  मूर ‘वॉचमेन’ के जरिए अपने पाठकों को एक वैकल्पिक इतिहास में ले जाते हैं, जहां वियतनाम युद्ध जीतने में अमेरिका की मदद करने के लिए 1940 और 1960 के दशक में सुपरहीरो उभरते हैं। देश सोवियत संघ के साथ एक परमाणु युद्ध के करीब पहुंच रहा है और पोशाकधारी सुपरहीरो या तो सेवानिवृत्त हो चुके हैं या सरकार के लिए काम कर रहे हैं। इसी नाम से बनी फिल्म भी काफी पॉपुलर हुई, जहां नायकों को पहचान के संकट और निजी उलझनों से जूझते हुए देखा गया।
कुछ-कुछ इसी तरह गैजेट्स की मदद से दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाले बांड को भी ‘स्काईफाल’ में सिर्फ साहस का सहारा लेना पड़ता है। पिछली कॉमिक्स श्रृंखला, उपन्यासों और फिल्मों की तरह यह बांड चतुर-चालाक और निर्मम नहीं है। उस पर अतीत का बोझ है और सामने भविष्य की चुनौतियां हैं। “तुम्हें क्या किसी धमाके के साथ फटने वाले पेन की उम्मीद थी?” फिल्म में क्यू का व्यंगात्मक प्रश्न बांड से टकराता है, “अब यह सब बीते जमाने की बातें हो गईं।” यह वैसा ही बदलाव है जैसे सुपरमैन की गुप्त पहचान वाले क्लार्क केंट अखबार की नौकरी छोड़नी पड़ी। पिछले दिनों डीसी कॉमिक्स के नए अंक में केंट ने दशकों से चली आ रही रिपोर्टर की पहचान को बदलने का फैसला लिया। पॉपुलर कल्चर में यह एक ऐसा मोड़ था, जिसने अचानक मीडिया का ध्यान अपनी ओर खींचा। खास तौर पर जब पॉपुलर कल्चर का यह आइकन पारंपरिक मीडिया की आलोचना कर रहा हो।
क्लार्क का ‘डेली प्लैनेट’ के दफ्तर में अपने बॉस के साथ बहस होना कोई नई बात नहीं है। मगर इस बार प्रसंग कुछ अलग है। कॉमिक्स के इस अंक में एक जगह खचाखच भरे न्यूज़रूम में तीखी बहस के दौरान केंट कहता है, “मुझे सिखाया गया है कि तुम अपने शब्दों से नदी की धारा बदल सकते हो और वो कितना भी गहरा राज़ हो, सूरज की तेज़ रोशनी में वह टिक नहीं सकता।”  आगे उसके शब्दों में निराशा है, “…तथ्यों की जगह निजी विचारों ने ले ली है, और सूचना का स्थान मनोरंजन ने ले लिया है। रिपोर्टर तो सिर्फ़ स्टेनोग्राफ़र होकर रह गए हैं। और मैं अकेला नहीं हूँ जो इस स्थिति से निराश हैं।” माना जा रहा है कि अब शायद क्लार्क केंट ब्लॉग लेखन करे या हफ़िंग्टन पोस्ट जैसी कोई वेबसाइट शुरु कर दे।

यह सारे बदलाव एक बदलती हुई विश्व व्यवस्था के संकेत हैं। जहां वास्तविक जीवन में जूलियन असांज जैसा दिलचस्प शख्स किसी नायक की तरह उभरता है। जो एक यायावर जीवन जीता है। करीब चालीस बरस के असांज एक बैग में उनके कपड़े होते हैं और दूसरे में लैपटॉप। और दुनिया में जहां भी उन्हें युद्ध संबंधी सूचना मिलने की संभावना रहती है, वे चल पड़ते हैं।

शायद यही वजह है कि हर बार ये महानायक बदलती विश्व व्यवस्था के प्रति अनुकूल रुख नहीं अपनाते। क्रिस्टोफर नोलन की फिल्म ‘द डार्क नाइट राइजेज’ में कुछ बड़े ही स्पष्ट राजनीतिक संदेश छिपे हैं। फिल्म का खलनायक बेन गोथम सिटी पर कब्जा जमाने और अमीरों को निकाल बाहर करने के लिए आम लोगों का नेतृत्व करता है। उसने अपना साम्राज्य शहर के नीचे सीवर लाइन की तलछट में फैला रखा है। फिल्म में बेन एक कानून के तहत जेल में बंद कैदियों को भी छुड़ाता है। यह 11 सितंबर की घटना के बाद अमेरिका में लागू पेट्रियट कानून से मिलता-जुलता है। इसका विरोध होता रहा है कि क्योंकि पुलिस को अत्यधिक अधिकार सौंपने से लोगों की निजी जिंदगी में उनका दखल होने लगा है।फिल्म का सेकेंड हाफ सर्दियों के अवसाद भरे दिनों जैसा है। इस दौरान कभी पावर और सत्ता का केंद्र रहे लोगों की जनता दरबार में पेशी होती है और उन्हें मौत की सजा भी सुनाई जाती है। फिल्म के इस रुख ने तत्काल पश्चिमी मीडिया का ध्यान अपनी ओर खींचा और इसे ऑक्यूपाई वॉल स्ट्रीट आंदोलन की आलोचना माना गया। हालांकि ‘रॉलिंग स्टोन’ मैगजीन को दिए इंटरव्यू में नोलन ने आंदोलन की आलोचना से इनकार किया। उन्होंने कहा, ‘यह फिल्म ऐसा कुछ नहीं कहना चाहती।’  जाहिर है कि ये महानायक बदलाव को नकार नहीं सकते मगर उसे जस का तस स्वीकारना भी नहीं चाहेंगे। उस बदलाव को स्वीकारने से एक महास्वप्न चटखने लगता है।मगर कुछ सुपरहीरो ऐसे भी हैं जो इस तेजी बदलती दुनिया में जगह बना रहे हैं। एलन मूर के ग्राफिक नावेल पर आधारित फिल्म ‘वी फॉर वेंडेटा’ का नायक सोलहवीं सदी के विद्रोही गाइ फॉक्स का व्यंगात्मक मुस्कान वाला मुखौटा लगाए रखता है। इस ग्राफिक नावेल में 1980 के दशकों में युनाइटेड किंगडम के मनहूस भविष्य की कल्पना की गई है। उस दौर का एक रहस्यमय क्रांतिकारी जो अपने आपको “वी” कहता है, अधिनायकवादी सरकार को तबाह कर देने के लिए काम करता है। वह एक मुखौटा लगाता है। सन 2005 में आई इस फिल्म के जरिए यह मुखौटा इतना पॉपुलर हो गया कि आज यह सारी दुनिया में विरोध का प्रतीक बना हुआ है। चाहे वह भारत में नई दिल्ली और बंगलुरु की सड़कों पर इंटरनेट सेंसरशिप के खिलाफ चल रहा आंदोलन हो या फिर आक्युपाई वाल स्ट्रीट आंदोलन।एक और महत्वपूर्ण और दिलचस्प बदलाव सामने आ रहा है। कॉमिक्स की दुनिया पर अब पश्चिम का वर्चस्व भी खत्म हो रहा है। मिडिल ईस्ट के साइकोलॉजिस्ट डा.नैफ अल मुतावा की 99 नाम से शुरु कॉमिक्स श्रंखला के महानायक चरित्र इसलामिक शक्तियों का प्रतिनिधित्व करते हैं। बराक ओबामा तक ने इसलाम की शिक्षा और सहिष्णुता की ओर युवाओं का ध्यान आकर्षित करने के लिए इसकी सराहना की है। पिछले दो साल से दिल्ली में लगने वाले कॉमिक कान में सूफी कॉमिक्स का स्टाल भी सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है। सन् 2012 में भारतीय एनीमेशन और कॉमिक्स कंपनी रोवोल्ट ने ‘मेटाफ्रैक्ज’ नाम से एक कॉमिक्स शुरु की। इसमें कुछ टीनएजर्स और बच्चे हैं। हर बच्चा दुनिया के किसी खास कोने का है और यह एक मल्टीएथिकल ग्रुप की तरह काम करता है। इसमें एक मुंबई का रहने वाला है तो दूसरा यूरोप का। एक इजिप्ट से आया है तो एक रूस से। कई साल पहले शेखर कपूर और दीपक चोपड़ा के प्रयास अब मजबूत होते दिख रहे हैं। उनकी लिक्विड कॉमिक्स के जरिए भारतीय मिथक का मार्डन रूपांतरण धीरे-धीरे पश्चिम में लोकप्रियता हासिल कर रहा है।वापस चलते हैं फिल्म ‘स्काईफाल’ के शुरुआती दृश्यों की तरफ। जब लोमहर्षक एक्शन सीक्वेंस के दौरान- यह खतरा होते हुए भी बांड को गोली लग जाएगी, एम गोली चलाने का आदेश देती है। गोली बांड को ही लगती है और स्क्रीन पर क्रेडिट्स उभरने लगते हैं। पार्श्व में उदासी भरा गीत गूंजता है, “दिस इज़ द एंड। होल्ड योर ब्रेथ एंड काउंट टु टेन।”पश्चिम के नायक खत्म नहीं हुए हैं पर अपनी सांस थामकर उल्टी गिनती जरूर गिन रहे हैं।
‘उद्भावना’ में प्रकाशित

50 Replies to “बदलती दुनिया में महानायक”

  1. Cancer Treatment

    I am really impressed with your writing skills as well as with the layout on your blog. Is this a paid theme or did you modify it yourself? Anyway keep up the excellent quality writing, it’s rare to see a great blog like this one today..

  2. new york travel

    I was just seeking this information for some time. After 6 hours of continuous Googleing, finally I got it in your website. I wonder what’s the lack of Google strategy that don’t rank this kind of informative web sites in top of the list. Normally the top websites are full of garbage.

  3. car audio

    I am extremely impressed with your writing skills and also with the layout on your weblog. Is this a paid theme or did you customize it yourself? Either way keep up the excellent quality writing, it is rare to see a great blog like this one today..

  4. Stiletto Heels

    Simply wish to say your article is as astonishing. The clearness in your post is just great and i can assume you are an expert on this subject. Well with your permission let me to grab your RSS feed to keep up to date with forthcoming post. Thanks a million and please keep up the enjoyable work.

  5. winter clothes

    Thanks for sharing superb informations. Your website is so cool. I am impressed by the details that you¡¦ve on this web site. It reveals how nicely you understand this subject. Bookmarked this web page, will come back for extra articles. You, my pal, ROCK! I found simply the information I already searched all over the place and simply couldn’t come across. What a perfect website.

  6. Digital Camera

    My brother suggested I might like this blog. He was totally right. This post actually made my day. You cann’t imagine simply how much time I had spent for this information! Thanks!

  7. Cheap Flights

    I simply wished to thank you very much all over again. I am not sure the things that I could possibly have worked on without the thoughts provided by you regarding this topic. It has been an absolute depressing scenario in my opinion, but finding out the skilled avenue you processed the issue took me to leap over delight. I am just grateful for the support and then hope you know what a powerful job that you are providing teaching people thru a web site. Most probably you’ve never got to know any of us.

  8. discover more here

    Greetings! This is my first visit to your blog! We are a collection of volunteers and starting a new project in a community in the same niche. Your blog provided us valuable information to work on. You have done a marvellous job!|

  9. cheap flight tickets

    You can certainly see your expertise in the paintings you write. The world hopes for more passionate writers such as you who aren’t afraid to mention how they believe. At all times go after your heart.

  10. flu symptoms

    This is really interesting, You are a very skilled blogger. I have joined your feed and look forward to seeking more of your fantastic post. Also, I have shared your website in my social networks!

  11. Foreign Exchange

    I have not checked in here for a while as I thought it was getting boring, but the last few posts are great quality so I guess I¡¦ll add you back to my daily bloglist. You deserve it my friend 🙂

  12. Disease Symptoms

    certainly like your website however you need to check the spelling on several of your posts. A number of them are rife with spelling issues and I to find it very bothersome to inform the truth nevertheless I¡¦ll surely come back again.

  13. sapphire rings

    Hello, Neat post. There is an issue together with your web site in internet explorer, would test this¡K IE still is the marketplace leader and a huge component to other folks will miss your fantastic writing due to this problem.

  14. physical abuse

    We are a group of volunteers and opening a new scheme in our community. Your web site offered us with valuable info to work on. You’ve done an impressive job and our entire community will be grateful to you.

  15. Online Schools

    You actually make it seem so easy with your presentation but I find this matter to be actually something which I think I would never understand. It seems too complicated and very broad for me. I’m looking forward for your next post, I will try to get the hang of it!

  16. Car Audio

    I would like to get across my gratitude for your generosity supporting women who must have guidance on this one area of interest. Your personal commitment to passing the solution all around came to be unbelievably informative and have regularly allowed employees much like me to attain their ambitions. Your informative hints and tips denotes so much a person like me and additionally to my office workers. Regards; from everyone of us.

  17. sustainable living

    hello!,I really like your writing very much! proportion we keep in touch more about your article on AOL? I require an expert on this house to resolve my problem. Maybe that is you! Having a look forward to see you.

  18. Life Insurance

    My husband and i got so contented Louis could finish off his preliminary research from the ideas he grabbed out of your web pages. It’s not at all simplistic to simply always be giving out instructions which some others have been trying to sell. Therefore we grasp we’ve got the writer to give thanks to for that. All the explanations you have made, the straightforward site menu, the friendships you can help to engender – it is everything wonderful, and it’s helping our son in addition to the family know that that idea is entertaining, and that is quite fundamental. Thanks for the whole thing!

  19. Domain Name

    I’ve been browsing on-line greater than 3 hours nowadays, but I never discovered any fascinating article like yours. It is lovely price sufficient for me. In my opinion, if all web owners and bloggers made good content material as you probably did, the web can be a lot more helpful than ever before.

  20. Business Idea

    Thank you for every other informative site. The place else could I get that type of information written in such an ideal method? I’ve a project that I am just now working on, and I’ve been on the glance out for such info.

  21. leather sofa

    I have been absent for some time, but now I remember why I used to love this blog. Thanks , I¡¦ll try and check back more often. How frequently you update your site?

  22. Silver Necklace

    Needed to post you this very small word so as to give many thanks over again for the pleasant opinions you’ve shown at this time. It has been certainly pretty generous with you to provide openly just what many individuals could have supplied for an e book to earn some bucks for their own end, particularly seeing that you could possibly have done it if you ever desired. The inspiring ideas also acted to become good way to realize that some people have the same fervor like my personal own to learn more and more on the topic of this problem. I know there are a lot more enjoyable occasions in the future for folks who examine your blog.

  23. Cheap Flights

    I am also writing to make you understand of the excellent encounter my friend’s princess experienced reading through your site. She figured out several issues, not to mention what it is like to possess a very effective coaching mindset to let most people easily learn a number of extremely tough things. You actually did more than readers’ expected results. Many thanks for delivering such invaluable, trusted, educational and also unique tips about that topic to Emily.

  24. Pingback: Asheville
  25. Cialis vs viagra canada

    Write more, thats all I have to say. Literally, it
    seems as though you relied on the video to make your point.

    You clearly know what youre talking about, why throw away your intelligence on just posting videos to your blog when you could be giving us something
    enlightening to read?

    Also visit my web page: Cialis vs viagra canada

  26. hop over to this web-site

    I simply want to say I am just new to blogging and site-building and certainly savored your web site. More than likely I’m going to bookmark your website . You absolutely come with perfect posts. Thanks for revealing your website page.

  27. Canada order cialis

    Hmm is anyone else having problems with the pictures
    on this blog loading? I’m trying to figure out if its a problem on my end or if it’s the blog.
    Any responses would be greatly appreciated.

    • click here to investigate

      I just want to tell you that I’m new to blogging and site-building and seriously loved this web site. More than likely I’m likely to bookmark your site . You certainly have great posts. Regards for sharing your web page.

Comments are closed.