Skip to content

Author: Pooja Singh

फैंड्री : यह झूठा सिनेमाई गांव नहीं, यह आँखों में चुभता है !

यह टिप्पणी (मैं इसे समीक्षा नहीं कहूंगी) मराठी फिल्म ‘फैंड्री’ के बारे में है लेकिन इसकी शुरुआत हिंदी फिल्मों के गांवों की बात किए बिना…

Leave a Comment

हमारी दुनिया में किसी रानी मेहरा का ठिकाना नहीं

इस धरती के किसी कोने में किसी होटल या घर में किसी रानी मेहरा का अपना कोई कमरा नहीं है. सारे कमरे मिसेज धींगरा, मिसेज…

Leave a Comment