Tag: naseeruddin shah

  • Waiting : तीन स्त्रियों का सिनेमाई जादू

    Waiting movie review

    ‘वेटिंग’ तीन स्त्रियों का सिनेमाई जादू है। अनु मेनन का सधा हुआ, सहज निर्देशन… जिसके कारण फिल्म धीरे-धीरे आपके भीतर उतरती है। कल्कि का खुद को चरित्र के भीतर समाहित कर लेना और सुहासिनी मणिरत्नम का प्रभावशाली तरीके से हिन्दी सिनेमा में कदम रखना। बाकी नसीरुद्दीन शाह के अभिनय पर कुछ अलग से कहने की जरूरत नहीं, वे तो जैसे… Continue reading "Waiting : तीन स्त्रियों का सिनेमाई जादू"

  • ए स्टूपिड कॉमन मैन…

    एक नजर इंडिया के आम आदमी की आइकोनिक इमेज वाली पांच फिल्मों पर आक्रोश (1980) आम आदमी का गुस्सा एक कभी न खत्म होने वाली चुप्पी बन सकता है. गोविंद निहलानी की पहली फिल्म आक्रोश में ओम पुरी ने इसका एहसास कराया. विजय तेंडुलकर की लेखनी, निहलानी का डायरेक्शन और नसीर, स्मिता और ओम पुरी की शानदार एक्टिंग इसका दर्जा… Continue reading "ए स्टूपिड कॉमन मैन…"